शेखपुरा

विधुत एसडीओ पे करो एफआईआर। नहीं सुनते है ग्रामीणों की गुहार। ग्रामीणों ने किया घेराव

शेखपुरा।

बिजली विभाग की उपेक्षापूर्ण नीति के कारण सोमवार के दिन बरबीघा प्रखंड के दरियाचक गाँव में करंट लगने से दो कीमती बैलों की मौत होने तथा तीन किसानों के झुलसकर घायल होने की घटना के बाद मंगलवार को गाँव के आक्रोशित ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर अनुमंडल कार्यालय का घेराव किया। ग्रामीण विधुत अभियंता पे एफआईआर दर्ज करने की मांग कर रहे थे।

डीएम योगेन्द्र सिंह को ज्ञापन

साथ ही बाद में डीएम योगेन्द्र सिंह को ज्ञापन सौपा। मालूम हो कि सोमवार के दिन बिजली खम्भे में प्रवाहित हो रहे करंट से झुलसकर नन्दकिशोर यादव नामक किसान का दो बैल घटनास्थल पर ही मर गया जबकि करंट लगने से किसान नन्दकिशोर यादव , केदार पाल और मसूदन यादव बुरी तरह झुलसकर घायल हो गये।

बड़ी संख्या में जुटे ग्रामीण

घेराव करने आये दर्जनों महिला और पुरुष ग्रामीणों में नगीना राम , उदय ठाकुर , विनोद कुमार ,उपेन्द्र कुमार , गीता देवी , उषा देवी सहित अन्य ने बताया कि गाँव में बिजली के जर्जर तार और खम्भों को बदलने तथा झूल रहे बिजली तार की मरम्मति करने हेतु विभाग से गुहार बार – बार लगाये जाने के बाबजूद बिजली विभाग द्वारा इस दिशा कोई पहल नही किया गया जिसके कारण सोमवार के दिन गाँव में इस तरह की घटना घटी।

करो एफआईआर

बिजली विभाग की लारवाही के कारण इस घटना में मरे दो बैलों का मुआवजा पीड़ित किसान को देने तथा घटना के लिए दोषी विभाग के कार्यपालक अभियंता तथा अनुमंडल अभियंता के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने की मांग की। ग्रामीणों का एक शिष्टमंडल डीएम से मिलकर उन्हें ज्ञापन सौपा।

%d bloggers like this: