बरबीघाशेखपुरा

इच्छामृत्यु!! डायलिसिस की सहारे जी रहा रोहित आर्थिक वजह से मांग रहा इच्छामृत्यु!! मदद के लिए आगे आइए!! #SaveRohit

रोहित को जिन्दा रहने के लिए है हर माह 40000 की जरुरत है प्लीज हेल्प

शेखपुरा। अरुण साथी

किडनी ट्रांसप्लांट होने के बाद दूसरी बार फिर से किडनी खराब हो जाने पर चिकित्सकों ने केवल और केवल डायलिसिस के सहारे ही जिंदा रहने की सलाह रोहित को दी है। इसके लिए रोहित को हर एक दूसरे दिन सरकारी अस्पताल में भी जाकर ₹2000 का डायलिसिस करवाना पड़ता है। दवा लेकर महीने का खर्च 30000 हो जाता है।

एक साधारण से किसान का बेटा रोहित यह पैसा जुटाने में असमर्थ है। अब रोहित इच्छा मृत्यु की मांग कर रहा है। रोहित की यह फरियाद सोशल मीडिया पर भी वायरल है और रोहित आम लोगों से भी आर्थिक मदद की गुहार लगा रहा है।

कौन है रोहित

रोहित उर्फ कृष्ण चंद्र बिहार के शेखपुरा जिले के बरबीघा प्रखंड अंतर्गत जयरामपुर थाना के तेउस गांव निवासी युवक है। रोहित की उम्र 35 वर्ष होगी और 2005 में ही इसका किडनी ट्रांसप्लांट हो चुका है। पहली बार किडनी ट्रांसप्लांट होने पर यह सफल रहा परंतु 2015 से रोहित की किडनी फिर से खराब हो गई। चिकित्सा विज्ञान दूसरी बार रोहित की किडनी ट्रांसप्लांट करने में खुद को असमर्थ घोषित कर दिया। कारण इसका यह हुआ कि रोहित हेपिटाइटिस-बी से भी ग्रसित है और उसे लीवर में भी थोड़ी समस्या हो गई है। अब चिकित्सकों के अनुसार रोहित प्रत्येक दूसरे दिन डायलिसिस के सहारे ही जीवन बसर कर रहा है। रोहित एक किसान है और एक किसान के लिए प्रत्येक दूसरे दिन ₹2000 जुटाना कितनी बड़ी समस्या है इसे समझा जा सकता है इसीलिए रोहित ने यह फरियाद लगाई है।

रोहित अपनी पत्नी के साथ

आप भी कर सकते हैं रोहित की मदद

रोहित की मदद करना चाहते हैं तो आप भी इसके लिए आगे आइए। इसके लिए रोहित ने अपना खाता संख्या जारी किया है।

Krishan Chandra Kumar Singh

AC n 0555000100134646

IFSCPUNB0055500

Branch: Barbigha,
Panjab National Bank

Mob: 9939809851

इस पर आप कहीं से भी पैसा ट्रांसफर कर रोहित को मदद कर सकते हैं। वैसे तो हम किसी भी धार्मिक आयोजन में बड़ी-बड़ी राशि खर्च करते हैं परंतु पुण्य के इस काम के लिए हम सब संकोच कर जाते हैं। हमारा भी निवेदन है कि एक जीवन दान देने से बेहतर पुण्य का काम कुछ नहीं हो सकता। इसलिए रोहित को आर्थिक मदद करने के लिए उसके खाते पर जो भी बन सके उतनी राशि मदद के लिए भेजिए।

चिकित्सक का पुर्जा

यही लिख रहा है रोहित

“आपलोगों के प्रयास से मेरा डायलीसिस आज शेखपुरा मे हो गया इसके लिए धन्यवाद।
अब मेरी चाह है कि आपलोग के मदद से मेरी बात प्रधानमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री तक पहुंचाने में मेरी मदद करे ।
शायद जीने का अधिकार का कानून सब लोग के लिए है, पैसे के बिना कोई नही मरना चाहिये, ये हमने बचपन मे किताब में पढ़ाया गया था मगर कोई भी बिना काम किये महीने में 25 हजार का व्यवस्था कैसे कर सकता है ।
सरकार मदद करे तो मेरे जैसे मरीज लोग का इलाज आसानी से हो सकता है लेकिन अगर मदद नही करे तो आत्महत्या के सिवा कोई उपाय नही बचता है।
प्रधानमंत्री डायलेसिस योजना भी है मगर बिहार राज्य में इसका कोई भी फायदा नही जहां 1500 रुपये में डायलेसिस किसी भी निजी अस्पताल में हो जाता है वही बिहार सरकारी हस्पताल में 1726 रुपया लगता है।
आप सभी मित्र बन्धु से आग्रह विनती है कि मेरी बातों को सरकार तक पहुंचाने में मदद करे।
धन्यवाद आपका अपना रोहित।”

खाता की जानकारी

2
“मुझे ट्विटर पर ट्वीट करना नही आता है इसी लिए आपलोग मेरे इस पोस्ट को ट्वीट करें और मेरे विचार और मेरी मजबूरी भरी बातें सरकार तक पहुंचाने में मदद करें।

प्रधानमंत्री डायलेसिस योजना भी है मगर बिहार राज्य में इसका कोई भी फायदा नही जहां 1500 रुपये में डायलेसिस किसी भी निजी अस्पताल में हो जाता है वही बिहार सरकारी हस्पताल में 1726 रुपया लगता है।
आप सभी मित्र बन्धु से आग्रह विनती है कि मेरी बातों को सरकार तक पहुंचाने में मदद करे।
धन्यवाद आपका अपना रोहित।”

%d bloggers like this: