शेखपुरा

निगरानी विभाग ने जेई और मिस्त्री को घूस लेते रंगे हाथ पकड़ा। जानिए पूरी कहानी

बरबीघा। शेखपुरा

बरबीघा अवर विद्युत कार्यालय में विद्युत कनेक्शन देने के नाम पर मोटी रकम नजराने के रूप में मांगी जा रही थी। इसकी शिकायत बरबीघा नगर के माउर गांव निवासी अभिमन्यु कुमार के द्वारा निगरानी विभाग में की गई जिसके बाद जाल बिछाकर निगरानी की टीम ने विद्युत विभाग कार्यालय में घूस लेते हुए कनीय अभियंता रामाश्रय राम तथा विद्युत मिस्त्री अजय कुमार को गिरफ्तार कर लिया। कनीय अभियंता और मिस्त्री के पास से 58000 बरामद किया गया जिसमें 38000 कनेक्शन का तथा 20000 घूस का शामिल है।

निगरानी अधिकारी ने बताया कि अभिमन्यु कुमार के द्वारा प्लास्टिक पाइप उद्योग लगाया जा रहा था जिसमें कनेक्शन के लिए आवेदन दिया गया था और इसी कनेक्शन के लिए जेई के द्वारा घूस के रूप में पैसे मांगी गई जिस पर उनके द्वारा शिकायत दर्ज कराई गई।

अभिमन्यु कुमार ने बताया कि बिजली विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला है और बिना पैसे दिए बिजली विभाग में एक भी काम नहीं होता। उनको सभी उचित कागजात के बाद ही दौड़ाया जा रहा था और घुस के रूप में पैसे मांगी जा रही थी जिसकी शिकायत निगरानी में की गई और निगरानी की टीम ने रंगे हाथ पकड़ लिया।

निगरानी की टीम के द्वारा कनीय अभियंता और बिजली मिस्त्री को पकड़े जाने के बाद विद्युत कार्यालय में हड़कंप मचा हुआ है।

बताना जरूरी है कि विद्युत विभाग कार्यालय में बिजली मिस्त्री से लेकर अधिकारी तक जबरदस्त भ्रष्टाचार में शामिल हैं और बिजली कनेक्शन देने से लेकर बिजली बिल सुधारने तक मोटी रकम वसूली जाती है।

शिकायतकर्ता
%d bloggers like this: