शेखपुरा

जाँच घर यदि खुला मिला तो सीधा एफआईआर। मामला क्या है…!!

शेखपुरा।

पटना हाइकोर्ट के सख्त आदेशों के आलोक में सोमवार से जिले के विभिन्न क्षेत्रों में संचालित कुल 15 पैथोलॉजी जाँच केंद्रों को अनिश्चित काल के लिए बन्द कर दिया गया है। इसकी जानकारी सिविल सर्जन डॉ एमपी सिंह ने दी।

उन्होंने बताया कि जिले के शेखपुरा एवम बरबीघा शहर के अलावा अन्य क्षेत्रों में जो पैथोलॉजी जाँच केंद्र चल रहे थे। सबो को तकनीशियनों के सहारे अवैध रूप में चलाया जा रहा था। किसी भी पैथोलॉजी जाँच केंद्र के द्वारा निर्धारित मापदंड को पूरा नही किया जा रहा था।

उन्होंने कहा कि इन केंद्रों का संचालन एमडी या डिप्लोमाधारी ही कर सकते हैं। जबकि इस जिले में सभी 15 केंद्र टेक्नीशियनों के सहारे चलाया जा रहा था। उन्होंने बताया कि इन 15 जाँच केंद्रों में शेखपुरा शहर के शिवशक्ति खांड पर, मुस्कान पैथोलॉजी स्टेशन रोड,न्यू सेंट्रल डायग्नोस्टिक सेंटर,कुमार लेबोरेटरी गिरिहिंडा, लाइफ केयर डायग्नोस्टिक दल्लू मोड़, परफेक्ट लेवोटरी, तथा बायोकेम कच्ची सड़क शेखपुरा शामिल है।

इसी तरह बरबीघा शहर के सेवा जांच घर,आर एन सेंटर, एशिया जांच घर, अपना जांच घर, राजधानी जांच घर , पॉपुलर जांच घर तथा आदर्श जांच घर शामिल है। जबकि शेखोपुरसराय के आनन्द जांच घर शामिल है।

इन सभी जांच केंद्रों को सोमवार से अवैध घोषित करते हुए बन्द कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले के बरबीघा शहर के सिंह हॉस्पिटल पैथोलॉजी जांच केंद्र सभी अहर्ता पूरी करता है । जबकि शेखपुरा का नालन्दा पैथोलॉजी जांच केंद्र एक कलेक्शन सेंटर के रूप में कार्यरत है ।

जिसका जांच केंद्र पटना है। फलतः इन दोनों केंद्रों को बन्द नही किया गया है। उन्होंने बताया कि जिले के सभी सदर पीएचसी , रेफरल अस्पतालों में पैथोलॉजी जांच व्यवस्था है। जहाँ लोग अपना जांच कराएंगे। इसके अलावा सदर अस्पताल में विशेष जांच की व्यवस्था की गई है। सिविल सर्जन ने कहा कि जाँच के दौरान यदि कोई जाँच केंद्र खुला पाया तो सीधे केंद्र के संचालक के विरुद्ध प्रथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

%d bloggers like this: