latest posts

9430804472 / 7992322662 [email protected]
बरबीघा

बच्चों में चिड़चिड़ापन, कुपोषण अब गुरुजी करेंगे दूर….जान लीजिए..

बरबीघा।

प्रखंड संसाधन केंद बरबीघा में सभी स्कूलों से दो-दो नामित शिक्षक को WIFS एवम पोषण माह पर जानकारी दी गई। कार्यक्रम में पिरामल फाउंडेशन के नीरज कुमार के द्वारा बताया गया कि WIFS कार्यक्रम पूरे 52 सप्ताह तक चलाया जाएगा जिसमें सभी स्कूलों में 10 से 19 वर्ष के लड़के एवम लड़कियों को IFA की ब्लू टैबलेट दिया जाना है।

आयरन की सही मात्रा शरीर में नहीं रहने से कुपोषण, बच्चों में चिड़चिड़ापन, नटापन, मानशिक बदलाव, शारीरक बदलाव के कारण आयरन की अधिक आवश्यकता होती है जिसको लेकर लोगों में कम जागरूकता देखा गया है इसलिए आयरन की कमी को दूर करने के लिए यह कार्यक्रम चलाया जा रहा।

प्रत्येक बुधवार को आयरन फोलिक एसिड की टैबलेट देना है अगर बुधवार को स्कूल बंद रहता है तो अगले दिन गोली को खिलाना है। और वैसे किशोरिया जो स्कूल नहीं जाती हैं उनका आशा और आँगनवाड़ी द्वारा सर्वे कर प्रत्येक बुधवार को आँगनवाड़ी केंद्र पर दवा खिलाना है।

इसके रेकॉर्ड के लिए सभी बच्चों का एक रिपोर्ट कार्ड दिया जाएगा जिसमे पूरे वर्ष का रिपोर्ट दर्ज रहेगा। केअर इंडिया के अमन कुमार के द्वारा रिपोर्टिंग प्रक्रिया और इससे प्रतिकूल प्रभाव से बचने के उपाय पर जानकारी दी गई।

साथ ही साथ पोषण माह के बारे मे भी जानकारी दी गई कि अपने स्कूलों में बच्चों के साथ रैली प्रभात फेरी का आयोजन करके पोषण के बारे में जानकारी देना है ताकि बच्चे कुपोषण से मुक्त हो सके। इस कार्यक्रम में BCM इंदु कुमारी, शिक्षक बिनोद कुमार, स्वास्थ्य प्रबंदक राजन कुमार उपस्थित रहे।

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: