शेखपुरा

डीजल अनुदान देने में क्यों कर रहे हैं आनाकानी? जिला कृषि पदाधिकारी को डीएम ने जमकर फटकारा..

शेखपुरा।

डीएम योगेन्द्र सिंह के अध्यक्षता में आज जिला कृषि टास्क फोर्स की बैठक श्री कृष्ण सभागार में आयोजित हुई। जिला कृषि पदाधिकारी ने कहा कि जिले में कुल किसान की संख्या 54000 है। लेकिन अबतक मात्र 13000 किसानों का हीं पंजीकृत किये गये है।

इस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की और निर्देश दिया कि शतप्रतिशत किसानों का पंजीकृत करना सुनिश्चित करें। आलोक राज जिला सूचना एवं विज्ञान पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि इसमें अपेक्षित सहयोग करें।

सत्यापन में आनाकानी

डीजल अनुदान के लिए 7749 आॅनलाईन आवेदन प्राप्त हुए हैं लेकिन जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा मात्र 2944 आवेदनों को ही सत्यापित किया गया है। डीजल अनुदान के आवेदनों को सत्यापन में अनावश्यक विलम्ब के लिए जिला कृषि पदाधिकारी को फटकार लगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि विभाग से निर्धारित समय के अनुसार सभी आवेदनों को सत्यापित करना सुनिश्चित करें। अभी तक 2944 किसानों को 30 लाख रूपये वितरित किये गये है।

बीज वितरण में गड़बड़ी

आकस्मिक फसल येाजना 2018 के तहत जिले को 200 क्विंटल एवं 200 क्विंटल का बीज प्राप्त हुए है। लेकिन जिला कृषि पदाधिकारी के द्वारा चेवाडा प्रखंड में 64 क्विंटल के विरूद्ध मात्र 18 क्विंटल ही वितरण किया गया है। अरियरी और चेवाडा प्रखंडों में 78 क्विंटल मक्का एवं 79 क्विंटल अरहर का बीज वितरित किया गया हैै। बीज वितरण में धीमी प्रगति के लिए जिला कृषि पदाधिकारी की कार्याें की अलोचना की गई और कार्यकलाप अपेक्षित सुधार लाने का आदेश दिया गया है।

उर्वरक मिलने में परेशानी

उर्वरक का टाॅस्क फोर्स की बैठक 02 माह पर कराना था लेकिन अभी तक एक भी बैठक नहीं हुई। जिलाधिकारी ने कहा कि किसानों के लिए यूरिया खाद का संकट नहीं होना चाहिए। सरकार के कार्याें में कोताही नहीं बरतें। खानापूर्ति करने से काम नहीं चलेगा।

विनय कुमार मंडल कृषि विज्ञान केन्द्र के वरीय वैज्ञानिक आज की बैठक में बिना सूचना के अनुपस्थित पाये गयें। जिलाधिकारी ने उनका एक दिन का वेतन कटौती करते हुए स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया।

जिला गव्य विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया गया हैै कि लक्ष्य के अनुरूप कार्य करना सुनिश्चित करें। पिछले वर्ष का भी वितरण अबतक लम्वित क्यों है?

जिला पशुपालन पदाधिकारी फटकार

जिला पशुपालन पदाधिकारी को पशुओं का शतप्रतिशत टीकाकरण करने का निदेश दिया। जिला पशुपालन पदाधिकारी ने बताया कि 96000 पशूओं का टीकाकरण करया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि टीकाकरण गड़बड़ी हुई हेै जिसकी जांच करायी जायेगी। साल में दो बार पशूओं को टीकाकरण कराया जाना है। उद्यान में प्रगति शून्य रखने के लिए जिला कृषि पदाधिकारी को फटकार लगी।

मशरूम और गेंदा का फूल उत्पादन करने प्रशिक्षण

जीविका संगठन की महिलाओं को मसरूम एवं गेन्दा की फूल के उत्पादन के लिए विशेष प्रशिक्षण देने का निदेश दिया गया। जीविका के माध्यम से गौपालन के लिए 170 आवेदन प्राप्त हुए। जिला गव्य विकास पदाधिकारी सभी आवेदनों को सत्यापन करने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने कहा कि जीविका की महिला संगठन को कृषि की विभिन्न योजना के बारे में जानकारी सुलभ करायें। शेखोपुरसराय के जीविका के महिला संगठन को निबंधन कराने के लिए जिला सहकारिता पदाधिकारी का निदेश दिया।

प्रपत्र क गठित होने पर भी क्यों नहीं सुधर रहे?

जिला मत्स्य पदाधिकारी को निदेश दिया गया है कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में तलाब की खुदाई नौ एकड़ में होना था मात्र अबतक 02 ही एकड़ में क्यों हुआ? वर्तमान वित्तीय वर्ष में भी लक्ष्य के आपका कार्य शून्य क्यों है? अपने कार्यकलाप में सुधार लायें और सरकार की योजनाओं को ससमय सूलभ करायें। पूर्व में भी आप पर अनियमितता एवं लापरवाही के लिए प्रपत्र ’क’ गठित किया गया है।

आज की बैठक में लाल बच्चन राम, जिला कृषि पदाधिकारी, राजेश कुमार एल0डी0एम0, सत्येंद्र प्रसाद जिला सूचना एवं सम्पर्क पदाधिकारी, जिला पशूपालन पदाधिकारी, जिला गव्य विकास पदाधिकारी के साथ-साथ कृषि विभाग के सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।

उपरोक्त आशय की जानकारी जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी सतेंद्र प्रसाद ने दी।

%d bloggers like this: