latest posts

9430804472 / 7992322662 [email protected]
बरबीघा

बाल मजदूरी , मानव व्यपार पे डीएम सख्त, श्रम अधीक्षक का वेतन काटा,

शेखपुरा।

जिला बाल संरक्षण इकाई शेखपुरा, जिला मानव व्यापार समिति शेखपुरा का जिलाधिकारी योगेन्द्र सिंह ने श्रीकृष्ण सभागार में समीक्षा बैठक की।

समीक्षा बैठक में संबंधित विभाग के अधिकारियों के द्वारा आवश्यक डाटा नहीं दिए जाने और बैठक में अनुपस्थित रहने पर जिलाधिकारी ने सख्त कार्रवाई की।

वेतन बंद, लगी फटकार

जिला बाल संरक्षण इकाई की समीक्षा में बाल श्रमिकों का डाटा नहीं दिए जाने पर बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष को जिलाधिकारी ने फटकार लगाई जबकि बैठक में बिना सूचना के ही गायब रहने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुए जिला श्रम अधीक्षक का 1 दिन का वेतन कटौती कर दिया।

वही प्रखंड श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी के द्वारा भी बाल श्रमिकों का डाटा नहीं देने पर जिलाधिकारी ने सख्त फटकार लगाई।

मानव व्यपार पे नजर

इसी तरह समीक्षा बैठक में मानव व्यापार को लेकर जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि मानव व्यापार को लेकर सभी अलर्ट रहें और बालिका छात्रावास का नियमित जांच किया जाना चाहिए।

इसी कड़ी में जिला कल्याण पदाधिकारी के द्वारा बताया गया कि जिले में एक भी अल्पावास गृह नहीं है जहां महिलाओं को रखा जा सके इसलिए सरकार से पत्राचार कर शीघ्र ही जिले में अल्पावास गृह संचालित करने का आदेश लिया जाए।

मारिया आश्रम केंद्र का ऑडिट

समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने मारिया आश्रम शेखपुरा में संचालित महिला प्रशिक्षण केंद्र का ऑडिट करने का पदाधिकारी को निर्देश दिया। इस बैठक में पुलिस कप्तान दयाशंकर, डीडीसी निरंजन झा, सिविल सर्जन मृगेंद्र कुमार सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

stay connected

- Advertisement -

ताज़ा ख़बर

- Advertisement -
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: